बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfalls Of Bihar)

आज आपको इस लेख में माध्यम से ” बिहार के प्रमुख जलप्रपात ” के बारे में जानकारी दी जाएगी . अगर आप भी बिहार के रहने वाले है या फिर किसी एग्जाम की तैयारी कर रहें हैं तो ये सब जानना आपके लिए बेहद जरूरी है . इसके लिए आपको सारी जानकरी विस्तार से बताई जा रही है .

बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfalls Of Bihar) , बिहार में कौन -कौनसे जल प्रपात है . All Waterfalls of Bihar State

बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfalls Of Bihar)
बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfalls Of Bihar)

बिहार के प्रमुख जलप्रपात

जैसा की आपको पता ही होगा की बिहार के पठारी क्षेत्रों में अनेकों जल प्रपात पाए जाते है . जिनमे से ककोलत जलप्रपात मुख्य है . यह बिहार का सबसे बड़ा जल प्रपात है ,जो की ककोलत पहाड़ी में स्थित है . इसे नवादा भी कहते है . ककोलत जलप्रपात नवादा से 16 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है . इसकी ऊँचाई 160 फिट है .

List of Major Waterfalls of Bihar

जलप्रपात का नाम ऊँचाई नदी स्थान
ककोलत जलप्रपात कोडरमा पठार से उतरने वाली धारा ककोलत , नवादा
सुखलदरी जलप्रपात कन्हर रोहतास
धुआंकुंड जलप्रपात 30 काव ,धोबा ताराचंडी[ रोहतास ]
दुर्गावती / खादर कोह जलप्रपात 80दुर्गावती छानपपर [ रोहतास ]
जिआरखंड जलप्रपात फुलवरिया जिआरखंड [भोजपुर]
तमासीन जलप्रपात म्हाने रोहतास
खुआरीदाह जलप्रपात 180असाने रोहतास
राकिमकुंड जलप्रपात ग्याघट रोहतास
ओखरीन्कुंड जलप्रपात 90 मीटर गोपथ रोहतास
सुआरा जलप्रपात 120 मीटर पूर्वी सुआरा रोहतास
तेलहरकुंड जलप्रपात 80 मीटर पश्चिम सुआरा
मंजरकुंड जलप्रपात
देवदरी जलप्रपात 58कर्मनाशा रोहतास पठार

बिहार के प्रमुख जल प्रपात कौन -कौनसे है ?

काकोलत जलप्रपात बिहार का सबसे प्रसिद्ध जलप्रपात है, जो काकोलत पहाड़ी (नवादा) में स्थित है। यह जलप्रपात नवादा से 16 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है और इसकी ऊंचाई 47 मीटर (160 फीट) है, लेकिन मुख्य जलप्रपात की ऊंचाई 24 मीटर (80 फीट) है। काकोताल जलप्रपात का निर्माण कोडरमा पठार से उतरकर 7 धाराओं के संगम से हुआ है।

सुखलद्री जलप्रपात बिहार में कन्हार नदी द्वारा बनाया गया है। जो बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित है। धुनकुंड जलप्रपात रोहतास के ताराचंडी पहाड़ी में काओ नदी पर स्थित है। दुर्गावती ‘झरना’ रोहतास जिले में ‘चानपापार’ नामक स्थान पर स्थित है। इसकी ऊंचाई 90 मीटर (300 फीट) है। जीराखंड जलप्रपात भोजपुर जिले में फुलवरिया नदी पर स्थित है।

काकोलत जलप्रपात

काकोलाट जलप्रपात बिहार का सबसे प्रमुख जलप्रपात है। जो नवादा से 22 किमी दक्षिण पूर्व में काकोलाट पहाड़ी में स्थित है। इसकी ऊंचाई 47 मीटर है लेकिन मुख्य पर्वत की ऊंचाई 24 मीटर है। इस जलप्रपात का निर्माण कोडरमा पठार से आने वाली सात जलधाराओं के मिलने से हुआ है।

सुखलदारी जलप्रपात

बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा पर स्थित यह जलप्रपात कन्हार नदी पर स्थित है। जिसे कर्पूरी ठाकुर पर्यटन स्थल के नाम से भी जाना जाता है। यहां लगभग 100 फीट की ऊंचाई से चट्टानों से टकराते हुए कनहर नदी का पानी गिरते दूध के फव्वारे की तरह पर्यटकों की निगाहें अपनी ओर खींच लेता है। यह जलप्रपात बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए पिकनिक स्पॉट के रूप में प्रसिद्ध है। यहां दिसंबर के महीने से लेकर नए साल तक भीड़ जुटती है। मकर संक्रांति के दिन इस स्थान पर भव्य मेले का आयोजन किया जाता है।

धुआ कुंड जलप्रपात

धुन कुंड जलप्रपात बिहार का प्रमुख जलप्रपात है जो ताराचंडी पहाड़ी जिले रोहतास में काओ नदी पर स्थित है। यह जलप्रपात कैमूर पहाड़ी पर स्थित मंजर कुंड जलप्रपात का विस्तारित रूप है। मंजर कुंड जलप्रपात से कुछ ही दूरी पर 36.5 मीटर की ऊंचाई से 6 मीटर की गहरी घाटी में गिरने वाला पानी धुंध जैसी स्थिति पैदा करता है, इसीलिए इसे धूम कुंड जलप्रपात भी कहा जाता है। इस जलप्रपात के झरनों का उपयोग कर 50-100 मेगावाट बिजली पैदा करने की क्षमता विकसित की गई है।

जीआर कुंड जलप्रपात

जीआर कुंड जलप्रपात भोजपुर जिले में फुलवरिया नदी पर स्थित एक प्रमुख जलप्रपात है।

तेलहर कुंड जल प्रपात

तेलहर जलप्रपात बिहार के भभुआ जिले में भभुआ-अधौरा मार्ग पर स्थित है। जो 80 मीटर की ऊंचाई से गिरकर शीतल जल के झरने की सुंदरता और पक्षियों की चहकती और चारों ओर की हरियाली प्रकृति की सुंदरता को बढ़ाती है और पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देती है। इस झरने का पानी हमेशा ठंडा रहता है।

करकट जलप्रपात

करकट जलप्रपात बिहार का प्रमुख जलप्रपात है जो कैमूर जिले के करकटगढ़ गांव के कैमूर पहाड़ियों में कर्मनाशा नदी पर स्थित है, जिसकी कुल ऊंचाई 30 मीटर और चौड़ाई 91 मीटर है। यह बिहार का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहाँ मगरमच्छों का प्राकृतिक आवास है। चूंकि वर्ष 1979 या झरना कैमूर वन्यजीव अभयारण्य का हिस्सा है, 2016 में, बिहार सरकार ने इस झरने में एक साथ 75 मगरमच्छ देखे जाने के बाद प्रारंभिक अध्ययन की पहल शुरू की। अब यहां मगरमच्छों और जानवरों के शिकार पर रोक लगा दी गई है।

दुर्गावती जलप्रपात बिहार

दुर्गावती जलप्रपात बिहार राज्य के रोहतास जिले में स्थित है, इसकी धारा उत्तर की ओर बढ़ते हुए खादर कोह की घाटी में गिरती है, इसलिए इसे खादर कोह जलप्रपात भी कहा जाता है। जिसकी ऊंचाई 90 मीटर है। यह जलप्रपात कर्मनाशा नदी के उद्गम स्थल से 11 किमी की दूरी पर स्थित है। इस जलप्रपात की तीन धाराएँ लोहरा, हटियादुब और कोठा हैं।

FAQs – बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfalls Of Bihar)

बिहार में कितने जलप्रपात है ?

यहाँ अपर बहुत से जल प्रपात है जिनका विवरण लेख में विस्तार से किया जा चूका है . इनमें से ककोलत मुख्य है .

बिहार का सबसे बड़ा जलप्रपात कौनसा है ?

ककोलत

Related Posts :

3 thoughts on “बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfalls Of Bihar)”

Leave a Comment